| July 6, 2022

Scroll to top

Top

No Comments

पर्यटकों के लिए खुलने से पहले ही सुर्खियां बटोर रहा राजगीर का ग्लास ब्रिज

पर्यटकों के लिए खुलने से पहले ही सुर्खियां बटोर रहा राजगीर का ग्लास ब्रिज
0 Flares Twitter 0 Facebook 0 Pin It Share 0 StumbleUpon 0 0 Flares ×

राजगीर का ग्लास ब्रिज बिहार के साथ साथ देश दुनिया में चर्चा का विषय बना हुआ है । पर्यटकों के लिए ये मार्च 2021 के बाद खोलने की योजना है। पर इसकी चर्चा अभी से ही काफी हो रही है।कई वीडियो ब्लोगेर ने अपने चैनल पे इसके वीडियो को अपलोड किया है।जिसे खूब देखा जा रहा है।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कुछ दिन पहले राजगीर में बन रहे नेचर सफारी और जू सफारी, को की उनका महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट है , उसका निरीक्षण करने राजगीर पहुंचे। इस दौरान ग्लास ब्रिज का निरीक्षण के साथ उन्होंने राजगीर की खूबसूरत वादियों का नजारा भी देखा।नीतीश कुमार शनिवार को अपने महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट का निरीक्षण करने राजगीर पहुंचे। उन्होंने यहां पर बन रहे नेचर सफारी का भ्रमण किया और कार्य प्रगति के बारे में जाना। सीएम इसी प्रोजेक्ट के अंतर्गत तैयार हो रहे ग्लास ब्रिज पर भी गए।

अफसरों ने बताया कि मार्च 2021 तक ग्लास फ्लोर ब्रिज का काम पूरा हो जाएगा। उन्होंने कहा कि यहां आने वाले टूरिस्ट की सिक्योरिटी को ध्यान में रखते हुए पुलिस की स्थायी तैनाती की जाएगी। प्रकृति और पर्यावरण के प्रति लोगों में जागृति के लिए जल-जीवन-हरियाली मुहिम भी चलाई जाएगी।

Video Credit:- TheWay4U

200 फीट ऊंचे, 85 फीट लंबे और 6 फीट चौड़े इस ग्लास ब्रिज को चीन के हांगझोऊ प्रोविंस में स्थित ब्रिज की तर्ज पर बनाया गया है। नेचर सफारी को 500 एकड़ में स्थित ऐतिहासिक बुद्ध मार्ग इलाके में बनाया गया है। इस नेचर सफारी में ग्लास ब्रिज के अलावा, जू सफारी, और रोप साइकलिंग करने की भी सुविधा है। साथ ही बिहार दर्शन और कैफेटेरिया भी आपको कम आकर्षित नहीं करेंगे।नेचर सफारी में 70 से ज्यादा औषधीय पौधे लगाए गए हैं और इसका इस्तेमाल भी यहां आने वाले लोग कर पाएंगे। साथ ही इस सफारी में रुकने का भी इंतेज़ाम किया गया है और यहां रहने वाले टूरिस्ट भी इन औषधीय गुण से भरे पौधे का इस्तेमाल कर पाएंगे।

उम्मीद है पर्यटकों के लिए मार्च 2021 में खुलने के बाद यहाँ काफी पर्यटक आएंगे। पिछड़े बिहार पर्यटन को आगे बढ़ाने में सहायक होगी। पर्यटन के साथ साथ यहाँ रोजगार को भी बढ़ावा मिलेगा।

Your Comments